जयशंकर प्रसाद द्विवेदी

 

धधके आन्दोलन के अगिया हो ,

बड़भागी भोजपुरिया .

पहिली दरदिया कुल्ही आइके उमड़ल

नीको नेवर बतिया मनही में घुमड़ल

जुड़े लगने कुल्ही सह्भागिया हो,

बड़भागी भोजपुरिया .

 

अठवीं अनुसूची बात सुनत सुनत

बीत गइल अरसा इहे गुनत गुनत

खुले शायद नेतन बुद्धिया हो ,

बड़भागी भोजपुरिया .

 

सहते सहत आज अइसन भइल

बोलल लागे , अस जस मइल

फूटे लागल गुंगवो के रगिया हो ,

बड़भागी भोजपुरिया

.33a

[Total: 0    Average: 0/5]
Advertisements