संगम सांस्कृतिक साहित्यिक एवं सामाजिक संस्था के हर महिनवे होखे वाली बइठकी के 263वीं बइठक पिछला 19 जुलाई का दिने स्वर्गीय सत्यनारायण मिश्र सत्तन जी (भोजपुरी संगम के संस्थापक) के समर्पित रहल आ उनुका 5 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित कइल गइल.
कोरोना का जमाना आ ओकरा चलते लागल तरहे तरह के बरजना का चलते ई बइठक गूगल मीट ऐप का जरिए ऑनलाइन कइल गइल आ अढ़ाई घंटा ले चलल.
एह बइठकी में 22 गो साहित्यकार स्वर्गीय सत्तन जी के याद करत आपन-आपन रचना परोसलें.
बइठकी के अध्यक्षता आदरणीय कृष्ण बिहारी गुप्त जी कइनी आ संचालन कुमार शैल कइलन. तबियत खराब रहला का बावजूद संस्था संयोजक आदरणीय नरसिंह बहादुर चन्द जी पूरा समय बइठकी में मौजूद रहनी. बइठकी के समापन का बेरा कुमार अभिनीत अपना बाबूजी के अंतिम क्षण याद करत आपन आ स्वर्गीय सत्तनो जी के रचना सुनवलें.
एह बइठकी में शामिल रहनी – सभे श्री नरसिंह बहादुर चन्द, के बी गुप्त, सुभाष यादव , अंजू शर्मा, रामकृपाल राय, कुमार अभिनीत, कुमार नवनीत, कुमार शैल, भीम प्रासाद प्रजापति, प्रतिभा गुप्ता, अनुपम शाही, सुधा मोदी, अनिता पाल सिंह, विभा त्रिपाठी, ज्ञानेन्द्र द्विवेदी, गुंजन मिश्रा, ई0राजेश्वर सिंह, विश्वजीत पांडेय, हर्षित मिश्रा नमन, तृप्ति सिंह, अउर सुधीर मिश्र.
कुछ अउरिओ लोग जुड़ल चहनी बाकिर लगातार बरखा आ खराब नेट्वर्क का चलते ना जुड़ पवनी. कुल मिला के एगो सुन्नर आ नीक बइठकी के सफल आयोजन रहल ई बइठकी.

✍🏻 कुमार शैल के रपट

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.