'जै कन्हइया लाल की'

– डा॰ रमाशंकर श्रीवास्तव भोजपुरी साहित्य में डा॰ आशारानी लाल के नाम अनजान नइखे. हाले में उनकर बाल उपन्यास ‘जै कन्हइया लाल की’ प्रकशित भइल ह. पूरा उपन्यास अलग अलग शीर्षकन में भगवान कृष्ण के जीवन पर आधारित बा. चूंकि कृष्ण सामान्य व्यक्ति ना हउवें एह से...
Scroll Up