Month: नवम्बर 2016

गद्दारी का बहाने बतंगड़ चिन्तन (बतंगड़ – 6)

– ओ. पी. सिंह एह घरी गद्दारी चरचा में बा आ कुछ लोग एकरा के आपन मौलिक अधिकार बतावे लागल बा. अइसनका लोग पाकिस्तान का हित में बतियावल आपन शान…

टेंशन दीहल जाला, लीहल ना जाव ! (बतंगड़ – 5)

– ओ. पी. सिंह टेंशन दीहल जाला, लीहल ना जाव. जिनिगी का हर मैदान में ई रणनीति मजगर साबित होले बशर्ते रउरा मे बेंवत होखे सोझा वाला के टेंशन दे…

भर घर देवर, भतारे से ठट्ठा (बाति के बतंगड़ – 4)

– ओ. पी. सिंह भर घर देवर, भतारे से ठट्ठा. कहाउत पुरान ह. जब ना त हम रहनी, ना मोदी जी. बाकिर हालही में मोदी जी के एगो बयान सुनि…

‘गोवर्धन पूजा’ आ ‘गोधन’ के बधाई आ शुभकामना

भोजपुरिका का ओर से रउँआ सभ के ‘गोवर्धन पूजा’ आ ‘गोधन’ के बधाई आ बहुत-बहुत शुभकामना. (गोधन के फोटो jagran.com से साभार)        324 total views