Month: दिसम्बर 2013

डोली

मेहरारुवन के फेरू सिनेमाहॉल में बोलावे के बढ़िया कोशिश हवे – डोली वेड ऑडियो वीडियो अउर फ़िल्म प्रोडक्शन के परोसा फिलिम “डोली” के बनल शुरू हो गइल बा. एह फिलिम…

गरदा

बिहार में जल्दिए देखावल जाई “गरदा” परोसा – एस एस फिल्म फैक्टरी बैनर – एस के फिल्म्स निर्माता – श्रवण कुमार लेखक आ निर्देशक – पराग पाटिल सिनेमै, टोग्राफर –…

मनुज बली नहीं होत है, समय होत बलवान (बतकुच्चन १३६)

मनुज बली नहीं होत है, समय होत बलवान. बाकिर आदमी समय के बान्ह पावे भा ना ओकरा के मापे के कोशिश हमेशा करेला. अब त घंटा मिनट सेकेंड चलत बा…

कहां उड़ि गईल सोन चिरैया

– जयंती पांडेय बाबा लस्टमानंद अपना पोती शुभी के सवाल से बड़ा हरान रहेले. अब काल्हुए के बात ह, हठात आ के पूछलसि, “बाबा अपना देश के सोना के चिरई…