समाज, संस्कृति आउर सभ्यतन के बनावे आ जोगावे में महिला लोगन के योगदान हमेसा से रहल बा. बात भाषा के होखे भा संस्कृति के, महिला लोग एकरा हमेसा से भरले-पूरले बा. महिला लोगन के योगदान हर भाषा, सभ्यता आउर संस्कृति में रहल बा. महिला लोगन के एही योगदान के बटोरेपूरा पढ़ीं…

Advertisements

ई देश तरह-तरह के मुख्यमंत्री देख चुकल बा. बाकिर दिल्ली के मुख्यमंत्री के जोड़ खोजल मुश्किल बा. बिहार के लबार मुख्यमंत्री रहल चाराचोर रुपिया जतना कमइले होखसु बाकिर ओकरो इज्जत दिल्ली के मौजूदा मुख्यमंत्री जइसन नीचे कबो ना गिरल. कई दिन से ई नाकारा नौटंकीबाज मुख्यमंत्री अपना चुनिन्दा मंत्रियन समेतपूरा पढ़ीं…

समय अइसन खराब हो गइल बा कि बाबा दादा का जमाना से चचल आवत कहाउतो कहे लिखे में डर लागत बा. चैनल का पैनल पर एकाध बेर कुछ गलतो कहि के बाच सकीलें बाकिर अखबार आ छपल सामग्री में ऊ आजादी ना मिले. काहे कि एक बेर लिखा-छपा गइल तपूरा पढ़ीं…

ममता बनर्जी देश के पीएम बने ला पूरा जोर शोर से लागल बाड़ी. अगर सीधे हाथ ना हो पाई त हाथ टेढ़ो करे उनुका आवेला. आ हाथ वालन के एकर पूरा अनुभव बा. हमार उनुका से एके गो निहोरा बा कि हे ममतामयी दीदी, हे जम्हूरियत के देवी, तोहरा राजपूरा पढ़ीं…

लोकतंत्र में लोक के चलेला बाकिर लोक के घोड़ा चलावेला तरह तरह के घुड़सवार मौजूद बाड़ें अपना देश में. केहू का लगे खानदान के नाम बा त केहू जाति आ फिरका का भरोसे अपना लोक के हाँकत आपन लोक-परलोक बनावे-सुधारे में लागल रहेलें. हालही में कर्नाटक का चुनाव में एहपूरा पढ़ीं…

गाँव के एगो रंगदार आपन भईंसिया सड़के पर बान्हत रहुवे. आवे जाए वाला लोग ओकरा से परेशान रहलन. आखिर पंचइती बइठल आ कहल गइल कि बाबू तू आपन भईंस कहीं अउर बान्हल करऽ आ रहिया पर से खूंटवा हटा ल. रंगदार कहलसि कि पंचन के फैसला सिर माथे बाकिर खूंटवापूरा पढ़ीं…

भोजपुरी सिनेमा के अकेल इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल अबकी मलेशिया में 21 जुलाई 2018 के होखे जा रहल बा. एह अवार्ड समारोह के जानकारी देत यशी फिल्म्स के अभय सिन्हा बतवलें कि एह अवार्ड समारोह में भोजपुरी मेगास्टार मनोज तिवारी, हिन्दी फिल्मों के सुनील शेट्टी, भोजपुरी सुपरस्टार रविकिशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ,पूरा पढ़ीं…

– ओ. पी. सिंह रोज ब रोज खोबसन सुने के आदत पड़ गइला का बादो आजु भोजपुरी कवि अशोक द्विवेदी के कविता – रेवाज – के एगो टुकड़ा दिमाग में घुमिरी लगावे लागल – खोबसन सुनि-सुनि बड़ भइल बेलिया. रोग सिरहाना, बलाय पैताना. करम के लेख रहे, सुन्नर-सुरेख रहे. अँतरापूरा पढ़ीं…

बहुते कम समय में देश विदेश के भोजपुरिया दर्शकन के दिल में अपना ला नेह भरल जगहा बना लेबे में कामयाब रहल महुआ प्लस अब अपना देखनिहारन के एगो नया कलेवर आ नया रंग-रूप में नज़र आई अब. महुआ प्लस पहिलही से अपना एक ले बढ़के एक बेहतरीन रिएलिटी शोजपूरा पढ़ीं…