No Image

हटे देश बपौती तहरे

April 30, 2015 Editor 0

– अशोक कुमार तिवारी जीए द जनता के चाहे गरदन जाँत मुआव, हटे देश बपौती तहरे जइसे मन चलावऽ. स्वास्थ सड़क शिक्षा तीनोें के धइले […]

Advertisements
No Image

प्रेम के सुभाव

April 30, 2015 Editor 0

– रामदेव शुक्ल मीतू हम दूनू जने उहाँ पहुंचि गइल बानी जाँ, जहाँ से लवटले के कवनो राहि नइखे बँचल। अगहीं बढ़े के बा, चाहे […]

No Image

एकजुटता के कमी

April 27, 2015 Editor 1

– प्रिंस रितुराज दुबे सबसे बड़हन सवाल ई बा कि कतना लोग आपन माईभासा (भोजपुरी) ला एकजुट बा. कतना लोग के आपन अस्तित्व से मतलब […]

No Image

जब घूर के दिन फिरेला

April 27, 2015 Editor 0

– जयंती पांडेय बाबा लस्टमानंद से रामचेला पूछले, ‘बाबा हो, ई घूरो के दिन कइसे फिरेला?’ बाबा कहले, ‘जे तहरा एकर उत्पत्ति आ टीपण जाने […]

No Image

लटकलऽ त गइलऽ बेटा !

April 23, 2015 Editor 0

– औम प्रकाश सिंह वइसे त रउरा बहुते कहानी पढ़ले होखब जवन साँच पर आधारित होले. एहिजा जवन हम कहे जात बानी तवन पूरा तरह […]

No Image

भोजपुरी खातिर एगो बड़हन आन्दोलन चलवला के जरूरत : सदानन्द शाही

April 21, 2015 Editor 1

विश्व भोजपुरी सम्मेलन के बलिया इकाई अउर पाती सांस्कृतिक मंच के एगो बड़हन आयोजन पिछला अतवारा का दिने बलिया के टाउन हाल बापू भवन में […]

No Image

केकरा पर करबि सिंगार

April 15, 2015 Editor 0

– रामवृक्ष राय ‘विधुर’ जवार भर में केहू के मजाल ना रहे कि भोला पहलवान का सोझा खड़ा होखे. जब ऊ कवनो बाति पर खिसिया […]

No Image

धरमपत्नी त होला बाकिर धरमपति काहे ना होखे (बतकुच्चन – 185)

April 11, 2015 Editor 0

दिमाग में अगिला बतकुच्चन के ताना बानबुनत जात रहनी तबले रमचेलवा भेंटा गइल. देखते पूछलसि, ए बतकुचन, बतावऽ धरमपत्नी त होला बाकिर धरमपति काहे ना […]

No Image

विश्व भोजपुरी सम्मेलन, बलिया के अधिवेशन आ पाती अक्षर सम्मान 19 अप्रैल के

April 10, 2015 Editor 1

विश्व भोजपुरी सम्मेलन के बलिया ईकाई के सालाना अधिवेशन आ पाती अक्षर सम्मान समारोह बलिया के बापू भवन में 19 अप्रैल के होखे जा रहल […]

No Image

वरमाला

April 4, 2015 Editor 0

– कामता प्रसाद ओझा ‘दिव्य’ अन्हरिया….. घोर अन्हरिया…. भादो के अन्हरिया राति. छपनो कोटि बरखा जइसे सरग में छेद हो गइल होखे. कबहीं कबहीं कड़कड़ा […]