Month: अक्टूबर 2011

अर्थ बा त समर्थ बा ना त बेअर्थ बा

– जयंती पांडेय हम भ्रष्टाचार के भविष्य के ले के निश्चिंत बानी. ई एकदम सत्य ह कि खाली हमनिये के देस में भ्रष्टाचार अउर भ्रष्टाचारियन खातिर तमाम संभावना आ सुविधा…

तुलिप के कदम बढ़ल जात बा….

अगर बॉलीवुड में कैटरीना जइसन एक्ट्रेस आपन जलवा देखा सकेली त भोजवूडो कुछ कम नइखे. एहिजो बाड़ीं हॉट अउर सेक्सी अप्सरा, जे बॉलीवुड के हसीनन के टक्कर दे सकेली. भोजपुरी…

रिलीज़ खातिर तइयार "प्यार के बंधन ना टूटे मितवा"

एम्.डी.वी.मोशन पिक्चर्स के पहिलका पेशकश “प्यार के बंधन ना टूटे मितवा” रिलीज़ खातिर तइयार हो गइल बा. निर्माता प्रवीण कुमार आ निर्देशक महमूद आलम के एह फिल्म के पोस्ट-प्रोडक्शन के…

रिलीज़ खातिर तइयार “प्यार के बंधन ना टूटे मितवा”

एम्.डी.वी.मोशन पिक्चर्स के पहिलका पेशकश “प्यार के बंधन ना टूटे मितवा” रिलीज़ खातिर तइयार हो गइल बा. निर्माता प्रवीण कुमार आ निर्देशक महमूद आलम के एह फिल्म के पोस्ट-प्रोडक्शन के…

ए माई !

– ओ.पी. अमृतांशु नवमी के दिने देवी लेली बलिदनवा, खस्सिया पे चले तलवार होऽऽऽ. करेले बकरिया गोहारऽ ए माई, करेले बकरिया गोहार होऽऽऽ. बड़ी रे ललसवा से दिहलीं जनमवा, चुमी-चाटी बबुआ के संझिया-बिहनवा, नेहिया -सनेहिया के लहसल बगिया, होई गइले हमरो उजाड़ होऽऽऽ. माई होके माई के ममतवा न जनलू, लोरवा के धार मोरी अँखिया से फोरलू , ओढ़ लेलु सभे के रे दुखवा-बिपतिया,…