Month: जुलाई 2021

सत्तन जी के छठवां पुण्यतिथि पर भोजपुरी संगम के खास बइठकी

“भोजपुरी में ऊ ताकत बा कि खाली रचना के बल पर एके स्थापित कइल जा सकत बा. दुनिया के अठारह देसन में भोजपुरी ओइसे बोलल जाला जइसे आपन भासा होखे.…

ओरहन का पाग में यादों की गठरी

(पुस्तक समीक्षा) डॉ आशारानी लाल के लिखल उनुका दाम्पत्य जीवन के यादगारन के आत्मकथात्मक किताब यादों की गठरी पढ़े के मिलल त लाख चहला का बादो एके बेर में ना…

निर्गुण आ भजन – गोपाल दूबे

निर्गुण – देह दुनिया भरम ह बलवान करम गति,भीतरी के सांच भीतरीये पहचान ले,बुद्धि कुबुद्धि के फेरा में उलझि मत,नर सेवा ही सांचो नरायन जप मान ले. केतनो तू मंहगा…

जब इनकाउंटर से बाचे खातिर खेते-खेत साइकिल से भगलें मुलायम सिंह

दयानंद पांडेय बहुत कमे लोग जानेला कि जब विश्वनाथ प्रताप सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री रहलन तब मुलायम सिंह यादव के इनकाउंटर करे के आदेश पुलिस को दे दिहले…

बिना ओरिचन के खटिया

विष्णुदेव तिवारी फूआ, माने गिरिजा फूआ-पुरुषोत्तम के बाबूजी के छोटकी बहिन- बाति ए तरी पागेली जे शब्द केनियो ले भरके ना पावसु लोग। अनचक्के में केहू के खींचि ले जइहें…